Connect with us

Tech News

What Is Ohms law? (Ohm’s law in Hindi)

Published

on

ohms law
इस नियम की सर्वप्रथम व्याख्या जर्मनी के भौतिकी वैज्ञानिक और तकनीकी विश्वविद्यालय के प्रोफेसर सर जार्ज साइमन ओम में किया था इसीलिये इस नियम को ओम का नियम या ohms law कहते है

What is Ohm’s law/Ohms law in Hindi

ओम का नियम विभवांतर (Potential differance or Voltage), विद्युतधारा (current) और प्रतिरोध (Resistance) के बीच मे संबंद्ध स्थापित करता है।  

Definition of Ohm’s Law

ओम का नियम (Ohm’s Law in Hindi)

जब किसी चालक (conductor) भौतिक परिस्थितियों (जैसे- लंबाई, ताप) में परिवर्तन न हो, तो उस चालक (conductor) में बहने वाली विद्युतधारा उसके सिरों पर लगाए गए विभवांतर (Potential differance or Voltage) के समानुपाती होती है।

यदि किसी चालक (conductor) के सिरों पर लगाया गया विभवांतर V और उसमें बहने वाली धारा I हो, तो ओम का नियम के अनुसार,
                                     V ∝ I
                                     V=I R
इस सूत्र के द्वारा प्रतिरोध(R), वोल्टेज(V) और धारा(I) का मान ज्ञात किया जा सकता है।
प्रतिरोध (Resistance) की इकाई (unit) ओह्म (Ω), वोल्टेज (Voltage) की इकाई (unit) वोल्ट(V) और विद्युतधारा (current) की इकाई (unit) एम्पियर (A) है।

वोल्टेज (V) का मान ज्ञात करना है तो
सूत्र:- V=I R

विधुतधारा (l) का मान ज्ञात करना है तो
सूत्र:- l=V/R

प्रतिरोध (R) का मान ज्ञात करना है तो
सूत्र:- R=V/I

उदाहरण के द्वारा ओम के नियम से प्रतिरोध (R), विधुतधारा (l) और वोल्टेज (V) का मान ज्ञात करते है।

ohms law
 उदाहरण 1:- यदि R=4Ω और I=5A है तो V=? होगा
            सूत्र:- V=I R
            V=4*5
            V=20 volt
                       
उदाहरण 2:- यदि R=4Ω और V=20v है तो I=? होगा
           सूत्र:- l=V/R
           I=20/4
           I=5A
उदाहरण 3:- यदि I=4Ω और V=20v है तो R=? होगा
           सूत्र:- R=V/I
           R=20/5
           R=4Ω

Read Also

यह पोस्ट ओम का नियम क्या है/What is Ohm’s law पसंद आई है तो लाइक और शेेेेयर जरूर करे।

थैंक यू

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending