Friday, 30 November 2018

विश्व एड्स दिवस पोस्टर पर निबंध और जानकारी Vishwa aids diwas poster making ideas hindi 2018

विश्व एड्स दिवस पोस्टर पर निबंध जानकारी Vishwa aids diwas poster making ideas hindi 2018

Vishwa aids diwas poster making ideas hindi 2018
Vishwa aids diwas poster making ideas hindi 2018

इस वर्ष 1 दिसम्बर को 'विश्व एड्स दिवस' की 30 वी सालगिरा पूरी दुनिया में जश्न मनाने को अवसर मिलने वाला है। एड्स का पूरा एक्वायर्ड इम्युनो डेफिशियेंसी सिंड्रोम है और यह रोग  ह्यूमन में ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी (HIV) के द्वारा फैलता है। यह कोई छुआ छुत वाली बीमारी नही है।

विश्व एड्स दिवस मनाने का कारण Aids diwas manane ke karan


1 दिसम्बर 1988 को वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन में इस दिन को विश्व एड्स दिवस घोषित किया ताकि इसके द्वारा लोगो मे  जागरूकता, रोकथाम के उपाय और रोग होने से बचने की सावधानियों को लोगो तक पहुँचाया जा सके। इस दिन को मनाने WHO के निम्नलिखित उद्देश्य है।

1. विश्व एड्स दिवस के माध्यम से लोगो की इस बीमारी के बारे में जागरूक करना।

2. एड्स रोग से ग्रसित व्यक्तियों को दूसरी बीमारियों जल्दी होती है इस दिन के माध्यम से उन बीमारियों के लिए भी जागरूक करना ।

एड्स होने का मुख्य कारण


एड्स का पूरा नाम एक्वायर्ड इम्युनो डेफिशियेंसी सिंड्रोम है जो कि मनुष्य में HIV (ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी) विषाणु के द्वारा होता है। यह कोई छुआ छुत वाली बीमारी नही है, यह बीमारी मनुष्य के शरीर मे पैदा होने वाली रोग प्रतिरोधक क्षमता को धीरे धीरे जीण करता है और उसे समाप्त कर देता है जिसके कारण एड्स का मरीज दूसरी बीमारियों से ग्रस्त हो जाता है और उसकी मौत हो जाती है, एड्स होने के  निम्नलिखित कारण है।

1. एक गर्भवती स्त्री के द्वारा उसके पैदा होने वाले शिशु को एचआईवी एड्स हो सकता है।
2. संक्रमित सुई का उपयोग दूसरे मरीज पर करने पर एचआईवी एड्स हो सकता है।
3. संक्रमित रक्त को किसी और को चलाने पर एचआईवी एड्स हो सकता है।
4. एड्स फैलने का मुख्य कारण असुरक्षित यौन संबंध बनाना ।

एचआईवी / एड्स के लक्षण और संकेत


एचआईवी / एड्स से संक्रमित व्यक्ति के निम्नलिखित संकेत और लक्षण है:

बुखार, ठंड लगना, गले में खराश, रात के दौरान पसीना, बढ़ी हुई ग्रंथियाँ, वजन घटना, थकान, दुर्बलता, जोड़ो का दर्द, मांसपेशियों में दर्द और लाल चकत्ते होना जैसी समस्याएं होती है।

एड्स के बारे समय रहते पता कैसे करे


एड्स का समय रहते पता करना है तो आपको समय - समय पर HIV टेस्ट करना जरूरी है। यह टेस्ट हमारे देश के सभी सरकारी अस्पतालों  में मुफ्त किया जाता है।

एड्स के बारे में समाज के मिथक

एड्स के बारे में समाज में कुछ मिथक फैल गये हैं। एड्स के रोगी से हाथ मिलाने, गले लगने, छींकने, अटूट त्वचा को छूने , रोगी से साथ खाना खाने या एक ही शौचालय के उपयोग के माध्यम से कभी नहीं फैलता है।

यदि यह जानकारी पसंद आई है तो लोगो से साथ शेयर करे ताकि इस भयंकर बीमारी के बारे में सभी जागरूक को सके।

थैंक यू




No comments:

Post a Comment